mujh pe naaraaj hai khudaa

No Comments

apne hasin honthon ko kisi parde men chhupaa liyaa karo,

                 ham gustaakh log hain njron se chum liyaa karte hain

 

अपने हसीन होंठों को किसी परदे में छुपा लिया करो,

हम गुस्ताख लोग हैं नज़रों से चूम लिया करते है

 

tu mil gayi hai to mujh pe naaraaj hai khudaa,

kahtaa hai ki tu ab kuchh maangtaa nahin hai

तु मिल गई है तो मुझ पे नाराज है खुदा,

कहता है की तु अब कुछ माँगता नहीं है

tere husn ko parde ki jrurat hi kyaa hai,

kaun hosh men rahtaa hai tujhe dekhne ke baad

तेरे हुस्न को परदे की ज़रुरत ही क्या है,

कौन होश में रहता है तुझे देखने के बाद

mai usko chaand kah du ye mumakin to hai,

magar… log use raat bhar dekhen ye mujhe gavaaraa nahin

मै उसको चाँद कह दू ये मुमकिन तो है,

मगर… लोग उसे रात भर देखें ये मुझे गवारा नहीं

hamen aadat nahin har ek pe mar mitne ki,

tujhe men baat hi kuchh aisi thi dil ne sochne ki mohalat naa di

हमें आदत नहीं हर एक पे मर मिटने की,

तुझे में बात ही कुछ ऐसी थी दिल ने सोचने की मोहलत ना दी

hamen sine se lagaakar hamaari saari kasak dur kar do,

ham sirph tumhaare ho jaaai hamen etnaa majbur kar do

हमें सीने से लगाकर हमारी सारी कसक दूर कर दो,

हम सिर्फ तुम्हारे हो जाऐ हमें इतना मजबूर कर दो।

nahin hai ab koi justju es dil men aye sanam,
meri pahli aur aakhiri aarju bas tum ho

नहीं है अब कोई जुस्तजू इस दिल में ए सनम,
मेरी पहली और आखिरी आरज़ू बस तुम हो।

mere hontho par laphj bhi ab teri talab lekar aate hain,
tere jikr se mahakte hain tere sajde men bikhar jaate hain

मेरे होंठो पर लफ्ज़ भी अब तेरी तलब लेकर आते हैं,

तेरे जिक्र से महकते हैं तेरे सजदे में बिखर जाते हैं।

kyaa chaahun rab se tumhen paane ke baad,
kiskaa karun entjaar tere aane ke baad,
kyon mohabbat men jaan lutaa dete hain log,
mainne bhi yah jaanaa eshk karne ke baad

क्या चाहूँ रब से तुम्हें पाने के बाद,

किसका करूँ इंतज़ार तेरे आने के बाद,

क्यों मोहब्बत में जान लुटा देते हैं लोग,

मैंने भी यह जाना इश्क़ करने के बाद

mere dil ke kisi kone men ab koi jagah nahin,
ki tasvir-aye-yaar hamne har taraph lagaa rakhi hai

मेरे दिल के किसी कोने में अब कोई जगह नहीं,

कि तस्वीर-ए-यार हमने हर तरफ लगा रखी है।

mohabbat kabhi kisi ki ejaajt ki mohtaaj nahin,

ye hameshaa se hoti chali aai hai,

aur hameshaa hoti rahegi

मोहब्बत कभी किसी की इजाज़त की मोहताज नहीं,

ये हमेशा से होती चली आई है,

और हमेशा होती रहेगी।

raat hogi to chaand duhaai degaa,
khvaabon men uskaa chehraa dikhaai degaa,
ye eshk hai jraa soch samajh kar karnaa,
kyunki yahaan ek aansu bhi giraa to sunaai degaa

रात होगी तो चाँद दुहाई देगा,
ख्वाबों में उसका चेहरा दिखाई देगा,
ये इश्क है ज़रा सोच समझ कर करना,
क्यूंकि यहाँ एक आंसू भी गिरा तो सुनाई देगा।

aag lagi dil men jab vo khfaa hua,
ehsaas huaa tab, jab vo judaa hua,
karke vfaa vo hame kuchh de n sake,
lekin de gaye bahut kuchh jab vo vebphaa hua

आग लगी दिल में जब वो खफ़ा हुए,
एहसास हुआ तब, जब वो जुदा हुए,
करके वफ़ा वो हमे कुछ दे न सके,
लेकिन दे गये बहुत कुछ जब वो वेबफा हुए।

 

Categories: Love Shayari

Meri Pahli Aur Aakhiri Aarzoo

No Comments

Nahin Hai Ab Koi Justaju Is Dil Mein E Sanam,
Meri Pahli Aur Aakhiri Aarzoo Bas Tum Ho.

नहीं है अब कोई जुस्तजू इस दिल में ए सनम,
मेरी पहली और आखिरी आरज़ू बस तुम हो।

Ye Jaruri To Nahin Ki Teri Khaas Rahoon Main, Bas
Mahafooz Rahe Tu,Taumr Tere Aaspas Rahun Main.

ये जरुरी तो नहीं कि तेरी ख़ास रहूँ मैं, बस
महफूज़ रहे तू, ताउम्र तेरे आसपास रहूँ मैं।

Tumhen Yakeen Na Ho Ham Par To Bichhad Kar Dekh Lo,
Tum Miloge Sabase, Magar Hamari Hi Talash Mein.

तुम्हें यकीन न हो हम पर तो बिछड़ कर देख लो,
तुम मिलोगे सबसे, मगर हमारी ही तलाश में।

Ho Ke Tum Mere Mujhko Mukammal Kar Do,
Adhoore-Adhoore Ab Ham Khud Ko Bhi Achchhe Nahi Lagte.

हो के तुम मेरे मुझको मुकम्मल कर दो,
अधूरे-अधूरे अब हम ख़ुद को भी अच्छे नहीं लगते।

Kitna Haseen Ittefaaq Tha Teri Gali Mein Aane Ka,
Kisi Kaam Se Aaye The… Kisi Kaam Ke Na Rahe.

कितना हसीन इत्तेफाक़ था तेरी गली में आने का,
किसी काम से आये थे… किसी काम के ना रहे।

Meri Mohabbat Thi Ye Ya Phir Deewanagi Ki Intha,
Ki Tere Hi Paas Se Guzar Gaya Tere Hi Khyal Se.

मेरी मोहब्बत थी यह या फिर दीवानगी की इन्तहा,
कि तेरे ही पास से गुज़र गया तेरे ही ख्याल से।

Aisa Kya Bolun Ki Tere Dil Ko Chhoo Jaye,
Aisi Kisse Dua Maangu Ki Tu Meri Ho Jaye,
Tujhe Paana Nahin Tera Ho Jaana Hai Mannat Meri,
Aisa Kya Kar Doon Ki Ye Mannat Poori Ho Jaye.

ऐसा क्या बोलूं कि तेरे दिल को छू जाए,
ऐसी किससे दुआ मांगू कि तू मेरी हो जाए,
तुझे पाना नहीं तेरा हो जाना है मन्नत मेरी,
ऐसा क्या कर दूं कि ये मन्नत पूरी हो जाए।

Ishq Ke Ye Kaise Afsaane Huye,
Khud Nazaron Mein Apni Begane Huye,
Ab Jamane Ki Nahin Koi Parwaah Hamen,
Ishq Mein Tere Is Kadar Deewane Huye.

इश्क के ये कैसे अफ़साने हुए,
खुद नज़रों में अपनी बेगाने हुए,
अब ज़माने की नहीं कोई परवाह हमें,
इश्क़ में तेरे इस कदर दीवाने हुए।

Wo Sapna Phir Se Sajane Chala Hun,
Umeedo Ke Sahare Dil Lagane Chala Hun,
Pata Hai Ki Anjaam Bura Hi Hoga Mera,
Phir Bhi Kisi Ko Apa Banane Chala Hun.

वो सपना फिर से सजाने चला हूँ,
उमीदों के सहारे दिल लगाने चला हूँ,
पता है कि अंजाम बुरा ही होगा मेरा,
फिर भी किसी को अपना बनाने चला हूँ।

Kya Chahun Rab Se Tumhen Pane Ke Baad,
Kiska Karoon Intezaar Tere Aane Ke Baad,
Kyu Moahabbat Mein Jaan Luta Dete Hain Log,
Maine Bhi Yeh Jana Ishq Karne Ke Baad.

क्या चाहूँ रब से तुम्हें पाने के बाद,
किसका करूँ इंतज़ार तेरे आने के बाद,
क्यों मोहब्बत में जान लुटा देते हैं लोग,
मैंने भी यह जाना इश्क़ करने के बाद।

Tum Mujhe Mil Jao Itna Kaafi Hai,
Meri Har Saans Ne Bas Yahi Dua Maangi Hai,
Na Jaane Kyon Dil Kheencha Jata Hai Teri Or,
Kya Tumne Bhi Mujhe Paane Ki Koi Dua Maangi Hai.

तुम मुझे मिल जाओ इतना काफी है,
मेरी हर साँस ने बस यही दुआ माँगी है,
न जाने क्यों दिल खींचा जाता है तेरी ओर,
क्या तुमने भी मुझे पाने की कोई दुआ माँगी है।

Zindagi Jeene Ke Liye Mujhe Dua Chaahiye,
Us Par Kismat Ki Bhi Wafa Chaahiye,
Khuda Ke Raham Se Sab Kuchh Hai Mere Paas,
Bas Pyar Karne Ke Liye Aap Jaisa Chaahiye.

ज़िंदगी जीने के लिए मुझे दुआ चाहिए,
उस पर किस्मत की भी वफ़ा चाहिए,
खुदा के रहम से सब कुछ है मेरे पास,
बस प्यार करने के लिए आप जैसा चाहिए।

Jaati Nahi Hai In Aankhon Se Soorat Teri,
Na Jaati Hai Dil Se Mohabbat Teri,
Tere Jaane Ke Baad Hua Hai Mahasoos Hamen,
Aur Bhi Jyada Hai Hamen Zaroorat Teri.

जाती नहीं है इन आँखों से सूरत तेरी,
ना जाती है दिल से मोहब्बत तेरी,
तेरे जाने के बाद हुआ है महसूस हमें,
और भी ज्यादा है हमें ज़रूरत तेरी।

Bhul Jata Hu Main SabKuchh Aapke Siwa, Ye Kya Mujhe Hua Hai,
Kya Isi Ehsaas Ko Duniya Ne Ishq Ka Naam Diya Hai.

भूल जाता हूँ मैं सबकुछ आपके सिवा, यह क्या मुझे हुआ है,
क्या इसी एहसास को दुनिया ने इश्क़ का नाम दिया है।

Hame To Kabool Hai Har Dard Har Takleef Teri Chahat Mein,
Bas Itna Bata De, Kya Tujhe Bhi Meri Mohabbat Kabool Hai?

हमें तो कबूल है हर दर्द… हर तकलीफ़ तेरी चाहत में,
बस इतना बता दे क्या तुझे मेरी मोहब्बत क़बूल है?

Shikayat Nahi Hai Raat Se Bs Tumhi Se Kuch Kahna Hai,
Bas Tum Thoda Thahar Jao Raat Kab Thaharati Hai.

शिकायत नहीं है रात से बस तुम्ही से कुछ कहना है,
बस तुम थोड़ा ठहर जाओ रात कब ठहरती है।

Apane Ishq Mein Kar De Madahosh Is Tarah,
Ki Hosh Bhee Aane Se Pahale Izaazat Maange.

अपने इश्क़ में कर दे मदहोश इस तरह,
कि होश भी आने से पहले इज़ाज़त माँगे।

Ishq Ka Koi Rang Nahin Phir Bhi Vo Rangeen Hai,
Mohabbat Ka Koi Chehra Nahin Phir Bhi wo Haseen Hai.

इश्क का कोई रंग नहीं फिर भी वो रंगीन है,
मोहब्बत का कोई चेहरा नहीं फिर भी वो हसीन है।

Ai Sanam… Hogi Kitni Chaahat Us Dil Mein,
Jo Khud Hi Maan Jaaye Kuch Pal Khafa Hone Ke Baad.

ऐ सनम… होगी कितनी चाहत उस दिल में,
जो खुद ही मान जाये कुछ पल खफा होने के बाद।

Mat Dekho Hamen… Tum Is Kadar,
Ishq Tum Kar Baithoge Aur Ilazaam Hampar Aayega.

मत देखो हमें… तुम इस कदर,
इश्क़ तुम कर बैठोगे और इलज़ाम हमपर आयेगा।

Categories: Love Shayari

Ghayal Kar Ke Mujhe

1 Comment

Ghayal Kar Ke Mujhe Usne Poochha,
Karoge Kya Phir Mohabbat Mujhse,
Lahoo-Lahoo Tha Dil Mera Magar
Honthon Ne Kaha Beintha-Beintha.

घायल कर के मुझे उसने पूछा,
करोगे क्या फिर मोहब्बत मुझसे,
लहू-लहू था दिल मेरा मगर
होंठों ने कहा बेइंतहा-बेइंतहा।

Khvaahish-E-Zindagi Bas
Itani Si Hai Ab Meri,
Ki Saath Tera Ho Aur
Zindagi Kabhi Khatm Na Ho.

ख्वाहिश-ए-ज़िंदगी बस
इतनी सी है अब मेरी,
कि साथ तेरा हो और
ज़िंदगी कभी खत्म न हो।

Nigahon Se Kheechi Hai Tasveer Maine,
Jara Apni Tasveer Aakar To Dekho,
Tumhin Ko In Aankho Mein Tumko Dikhaoon,
In Aankho Me Aankhe Milakar To Dekho.

निगाहों से खीची है तस्वीर मैने,
जरा अपनी तस्वीर आकर तो देखो,
तुम्हीं को इन आँखो में तुमको दिखाऊँ,
इन आँखो मे आँखे मिलाकर तो देखो।

Bin Bole Jo Tum Kahte Ho,
Bin Bole Hi Wo Sun Loon Main,
Bharke Tumko In Aankhon Mein,
Kuchh Khwaab Naye Se Bun Loon Main.

बिन बोले जो तुम कहते हो
बिन बोले ही वो सुन लूँ मैं,
भरके तुमको इन आँखों में
कुछ ख्वाब नए से बुन लूँ मैं।

Aa Ke Meri Sanson Mein Bikhar Jao To Achchha Hoga,
Ban Ke Rooh Mere Jism Mein Utar Jao To Achchha Hoga,
Kisi Raat Teri God Mein Sir Rakh Ke So Jaaun,
Phir Us Raat Ki Kabhi Subah Na Ho To Achchha Hoga.

आ के मेरी साँसों में बिखर जाओ तो अच्छा होगा,
बन के रूह मेरे जिस्म में उतर जाओ तो अच्छा होगा,
किसी रात तेरी गोद में सिर रख के सो जाऊं,
फिर उस रात की कभी सुबह ना हो तो अच्छा होगा।

Tera Ehsaan Ham Kabhi Chuka Nahin Sakte,
Tu Agar Maange Jaan To Inkaar Kar Nahin Sakte,
Maana Ki Zindagi Leti Hai Imtihaan Bahut,
Tu Agar Ho Hamare Saath To Ham Kabhi Haar Nahin Sakte.

तेरा एहसान हम कभी चुका नहीं सकते,
तू अगर माँगे जान तो इंकार कर नहीं सकते,
माना कि ज़िंदगी लेती है इम्तिहान बहुत,
तू अगर हो हमारे साथ तो हम कभी हार नहीं सकते।

Kisi Patthar Mein Moort Hai, Koi Patthar Ki Moort Hai,
Lo Ham Ne Dekh Li Duniya, Jo Itni Khoobasoorat Hai,
Duniya Apna Na Samajhe Kabhi, Par Mujhe Khabar Hai,
Ki Tujhe Meri Zaroorat Hai Aur Mujhe Teri Zaroorat Hai.

किसी पत्थर में मूर्त है, कोई पत्थर की मूर्त है,
लो हम ने देख ली दुनिया, जो इतनी खूबसूरत है,
दुनिया अपना न समझे कभी पर मुझे खबर है,
कि तुझे मेरी ज़रूरत है और मुझे तेरी ज़रूरत है।

Log Kahte Hain Usko Khuda Ki Ibaadat Hai,
Ye Meri Samajh Mein To Ek Jahalat Hai,
Raat Jaag Ke Gujre, Dil Ko Chain Na Aaye,
Jara Batao Doston Kya Yahi Mohabbat Hai.

लोग कहते हैं उसको खुदा की इबादत है,
ये मेरी समझ में तो एक जहालत है,
रात जाग के गुजरे, दिल को चैन न आए,
जरा बताओ दोस्तों क्या यही मोहब्बत है।

Kya Aap Nahi Jante Ho Sanam,
Dil Ka Dard Dabta Nahin Hai Dabane Se,
Aapko Mohabbat Ka Izhaar Karna Hi Padega,
Kyuki Mohabbat Chhupti Nahin Chhupane Se.

क्या आप नहीं जानते हो सनम,
दिल का दर्द दबता नहीं है दबाने से,
आपको मोहब्बत का इज़हार करना ही पड़ेगा,
क्योंकि मोहब्बत छुपती नहीं छुपाने से।

Kabhi Teri Baaten Bhool Jaoon, Kabhi Tere Lafz Bhool Jaoon,
Is Kadar Mohabbat Hai Tujhase Ke Apni Zaat Bhool Jaoon,
Tere Paas Se  Uth Ke Jab Main Chal Doon Ai Mere Hamadam,
Jaate Jaate Khud Ko Tere Paas Bhool Jaoon.

कभी तेरी बातें भूल जाऊं, कभी तेरे लफ्ज़ भूल जाऊं,
इस कदर मोहब्बत है तुझसे के अपनी ज़ात भूल जाऊं,
तेरे पास से  उठ के जब मैं चल दूँ ऐ मेरे हमदम,
जाते जाते खुद को तेरे पास भूल जाऊं।

Categories: Love Shayari

Ham Sirf Tumhare Ho Jaye

No Comments

Hamen Seene Se Lagakar Hamari Sari Kasak Door Kar Do,
Ham Sirf Tumhare Ho Jaye Hamen Itna Majaboor Kar Do.

हमें सीने से लगाकर हमारी सारी कसक दूर कर दो,
हम सिर्फ तुम्हारे हो जाऐ हमें इतना मजबूर कर दो।

Apni Kalam Se Dil Se Dil Tak Ki Baat Karte Ho,
Seedhe Seedhe Kah Kyon Nahin Dete Ham Se #Pyar Karte Ho.

अपनी कलम से दिल से दिल तक की बात करते हो
सीधे सीधे कह क्यों नहीं देते हम से #प्यार करते हो।

Ye Zaroori Nahin Hai Ki Har Baat Par Tum Mera Kaha Mano,
Dahleej Par Rakh Di Hai Chahat Aur Ab Aage Tum Jaano.

ये ज़रूरी नहीं है की हर बात पर तुम मेरा कहा मानो,
दहलीज पर रख दी है चाहत और अब आगे तुम जानो।

Kadak Sardi Mein Jalti Hui Alaav Se Ho Tum,
Aanch Had Se Zyada Ho To Bhi Door Nahin Raha Jata.

कड़क सर्दी में जलती हुई अलाव से हो तुम,
आँच हद से ज़्यादा हो तो भी दूर नहीं रहा जाता।

Tapakti Hai Nigahon Se… Jhalakti Hai Adaon Se,
Mohabbat Kaun Kahta Hai Ki Pahchani Nahin Jati ?

टपकती है निगाहों से… झलकती है अदाओं से,
मोहब्बत कौन कहता है की पहचानी नहीं जाती ?

Ham Se Na Ho Sakegi Mohabbat Ki Numaish,
Bas Itna Jante Hai Tumhe Chahte Hain Ham.

हम से न हो सकेगी मोहब्बत की नुमाइश,
बस इतना जानते है तुम्हे चाहते है हम।

Mohabbat Bhi Sharab Ke Nasha Jaisi Hai Dosto,
Karen To Mar Jayen Aur Chhode To Kidhar Jayen.

मोहब्बत भी शराब के नशा जैसी है दोस्तों,
करें तो मर जाएँ और छोड़े तो किधर जाएँ।

Mere Dil Ke Kisi Kone Mein Ab Koi Jagah Nahin,
Ki Tasveer-E-Yaar Hamne Har Taraf Laga Rakhi Hai.

मेरे दिल के किसी कोने में अब कोई जगह नहीं,
कि तस्वीर-ए-यार हमने हर तरफ लगा रखी है।

Milti Hain Najren Tujhse To Is Kadar Kho Jaate Hain,
Jaise Bachche Bhare Baazaar Mein Kho Jaate Hain.

मिलती हैं नजरें तुझसे तो इस कदर खो जाते हैं,
जैसे बच्चे भरे बाज़ार में खो जाते हैं।
~ Munawwar Rana

Tujhko Hazar Sharm Sahi Mujh Ko Laakh Zabt,
Mohabbtat Wo Raaz Hai Ki Chhupaaya Na Jayega.

तुझको हज़ार शर्म सही मुझ को लाख ज़ब्त,
मोहब्बत वो राज़ है कि छुपाया न जाएगा।

Main Tere Pyar Mein Itna Gum Hone Laga Hun Sanam,
Jahan Bhi Jaaun Bas Tumhen Hi Samane Pane Laga Hun,
Halaat Yah Hain Ki Har Chehre Mein Tu Hi Tu Dikhta Hai,
Ai Mere Khuda Ab To Main Khud Ko Bhi Bhulane Laga Hun.

मैं तेरे प्यार में इतना ग़ुम होने लगा हूँ सनम,
जहाँ भी जाऊं बस तुम्हें ही सामने पाने लगा हूँ,
हालात यह हैं कि हर चेहरे में तू ही तू दिखता है,
ऐ मेरे खुदा अब तो मैं खुद को भी भुलने लगा हूँ।

Chain Kho Jaane Ka Izahaar Zaroori To Nahin,
Yah Tamaasha Sare Aam Jaruri To Nahin,
Mujhe Tha Pyaar Teri Rooh Se Aur Ab Bhi Hai,
Tere Jism Se Ho Koi Sarokaar Zaroori To Nahin.

चैन खो जाने का इज़हार ज़रूरी तो नहीं,
यह तमाशा सरे आम जरुरी तो नहीं,
मुझे था प्यार तेरी रूह से और अब भी है,
तेरे जिस्म से हो कोई सरोकार ज़रूरी तो नहीं।

Main Had Se Guzar Jaun To Maaf Karna,
Tere Dil Mein Utar Jaun To Maaf Karana,
Raat Mein Tere Deedar Ki Khatir,
Agar Main Sab Kuchh Bhool Jaun To Maf Karna.

मैं हद से गुज़र जाऊं तो माफ़ करना,
तेरे दिल में उतर जाऊं तो माफ़ करना,
रात में तेरे दीदार की खातिर,
अगर मैं सब कुछ भूल जाऊं तो माफ़ करना।

Categories: Love Shayari

Mujhe Itna Na Pila Ishq-E-Jaam Ki

No Comments

Nazre Karam Mujh Par Itna Na Kar,
Ki Teri Mohabbat Ke Liye Baagi Ho Jaaun,
Mujhe Itna Na Pila Ishq-E-Jaam Ki,
Main Ishq Ke Jahar Ka Aadi Ho Jaaun.

नज़रे करम मुझ पर इतना न कर,
की तेरी मोहब्बत के लिए बागी हो जाऊं,
मुझे इतना न पिला इश्क़-ए-जाम की,
मैं इश्क़ के जहर का आदि हो जाऊं।

Usne Mohabbat, Mohabbat Se Jyada Ki Thi,
Humne Mohabbat Usse Bhi Jyada Ki Thi,
Ab Wo Kise Kahenge Mohabbat Ki Intehaan,
Humne Shuruat Hi #Intehaan Se Jyada Ki Thi.

उसने मोहब्बत, मोहब्बत से ज्यादा की थी,
हम ने मोहब्बत उससे भी ज्यादा की थी,
अब वो किसे कहेंगे मोहब्बत की इन्तेहाँ,
हमने शुरुआत ही #इन्तेहाँ से ज्यादा की थी।

Use Kah Do Wo Mera Hai Kisi Aur Ka Ho Nahin Sakta,
Bahut Nayab Hai Mere Liye Wo Koi Aur Us Jaisa Ho Nahin Sakta,
Tumhare Saath Jo Guzare Wo Mausam Yaad Aate Hain,
Tumhare Baad Koi Mausam Suhana Ho Nahin Sakta.

उसे कह दो वो मेरा है किसी और का हो नहीं सकता,
बहुत नायाब है मेरे लिए वो कोई और उस जैसा हो नहीं सकता,
तुम्हारे साथ जो गुज़ारे वो मौसम याद आते हैं,
तुम्हारे बाद कोई मौसम सुहाना हो नहीं सकता।

Mohabbat Karni Aati Hai Nafrato Ka Koi Thaur Nahi,
Bas Tu Hi Tu Hai Is Dil Me Doosra Koi Aur Nahi.

मोहब्बत करनी आती है नफरतो का कोई ठौर नही,
बस तू ही तू है इस दिल मे दूसरा कोई और नही।

Kab Aa Rahe Ho Mulakaat Ke Liye Ai Sanam,
Hamne Chaand Roka Hai Ek Raat Ke Liye.

कब आ रहे हो मुलाकात के लिये ऐ सनम,
हमने चाँद रोका है एक रात के लिये।

Is Kadar Shmar Hai Deedar-e-Talab Unka,
Sau Baar Bhi Mil Jaaye… Adhura Lagta Hai.

इस कदर शुमार है दीदार-ए-तलब उनका,
सौ बार भी मिल जाये… अधूरा लगता है।

Gam Me Khushi Ki Bajah Bani Hai Mohabbat,
Dard Me Yaadon Ki Bajah Bani Hai Mohabbat,
Jab Kuchh Bhi Na Raha Tha Achchha Is Duniya Me,
Tab Hamare Jeene Ki Bajah Bani Hai Yah Mohabbat.

गम में ख़ुशी की वजह बनी है मोहब्बत,
दर्द में यादों की वजह बनी है मोहब्बत,
जब कुछ भी ना रहा था अच्छा इस दुनिया में,
तब हमारे जीने की वजह बनी है यह मोहब्बत।

Nahn Rahi Neend Ki Aarzoo Ab Mujhe,
Ab Raaton Ko Jaagna Achchha Lagta Hai,
Mujhe Nahin Malum Wo Meri Kismat Mein Hai Ya Nahin,
Magar Use Rab Se Mangna Achchha Lagta Hai.

नहीं रही नींद की आरज़ू अब मुझे,
अब रातों को जागना अच्छा लगता है,
मुझे नहीं मालूम वो मेरी किस्मत में है या नहीं,
मगर उसे रब से माँगना अच्छा लगता है।

Aapko Dekh Kar Yeh Nigaah Ruk Jaegi,
Khamoshi Ab Har Baat Kah Jaegi,
Padh Lo Ab In Aankhon Mein Apni Mohabbat,
Kasam Se Saari Kayanaat Ise Sunne Ko Tham Jaegi.

आपको देख कर यह निगाह रुक जाएगी,
ख़ामोशी अब हर बात कह जाएगी,
पढ़ लो अब इन आँखों में अपनी मोहब्बत,
कसम से सारी कायनात इसे सुनने को थम जाएगी।

Wo Hasraten Dil Ki Ab Juban Par Aane Lagii,
Tumne Dekha Aur Ye Zindagi Muskurane Lagi,
Mohabbat Ki Intaha Thi Ya Deewanagi Meri,
Har Soorat Mein Mujhe Soorat Teri Nazar Aane Lagi.

वो हसरतें दिल की अब जुबां पर आने लगी,
तुमने देखा और ये ज़िन्दगी मुस्कुराने लगी,
मोहाब्बत की इन्तहा थी या दीवानगी मेरी,
हर सूरत में मुझे सूरत तेरी नज़र आने लगी।

Zindagi Naraz Ho Gar Hmse To Mna Lenge Hum,
Mile Jo Gam Gar Wo Bhi Sah Lenge Ham,
Bas Aap Rahna Hamesha Saath Hamare To,
Nikalte Huye Aansuo Me Bhi Muskura Lenge Ham.

ज़िन्दगी नाराज हो गर हमसे तो मना लेंगे हम,
मिले जो गम गर वो भी सह लेंगे हम,
बस आप रहना हमेशा साथ हमारे तो,
निकलते हुए आँसुओं में भी मुस्कुरा लेंगे हम।

Jaane Kahan The Aur Chale The Kahaan Se Ham,
Bedaar Ho Gaye Kisi Khwaab-E-Giraan Se Ham,
Ai Nau-Bahaar-E-Naaz Teri Nikahaton Ki Khair,
Daaman Jhatak Ke Nikle Tere Gulsitaan Se Ham.

जाने कहाँ थे और चले थे कहाँ से हम,
बेदार हो गए किसी ख्वाब-ए-गिराँ से हम,
ऐ नौ-बहार-ए-नाज़ तेरी निकहतों की खैर,
दामन झटक के निकले तेरे गुलसिताँ से हम।

Categories: Love Shayari

Palke Jhukake Vo BoleKi

No Comments

Khade-Khade Sahil Par Hamne Shaam Kar Di,
Apna Dil Aur Duniya Aap Ke Naam Kar Di,
Ye Bhi Na Socha Kaise Guzaregi Zindagi,
Bina Soche-Samjhe Har Khushi Aapke Naam Kar Di.

खड़े-खड़े साहिल पर हमने शाम कर दी,
अपना दिल और दुनिया आप के नाम कर दी,
ये भी न सोचा कैसे गुज़रेगी ज़िंदगी,
बिना सोचे-समझे हर ख़ुशी आपके नाम कर दी।

Maine Har Ek Saans Apni Tumhare Naam Kar Di,
Logo Mein Ye Zindagi Badnaam Kar Di,
Ab Ye Aaina Bhi Kis Kaam Ka Mere,
Maine To Apni Parchhai Bhi Tumhare Naam Kar Di.

मैंने हर एक सांस अपनी तुम्हारे नाम कर दी,
लोगो में ये ज़िन्दगी बदनाम कर दी,
अब ये आइना भी किस काम का मेरे,
मैंने तो अपनी परछाई भी तुम्हारे नाम कर दी।

Aarazoo Vasl Ki Rakhti Hai Pareshaan Kya Kya,
Kya Bataun Ki Mere Dil Mein Hain Armaan Kya Kya,
Gam Azeejon Ka Haseeno Ki Judayi Dekhi,
Dekhen Dikhalae Abhi Gardish-E-Dauraan Kya Kya.
~ Akhtar Shaiairani

आरज़ू वस्ल की रखती है परेशाँ क्या क्या,
क्या बताऊँ कि मेरे दिल में हैं अरमाँ क्या क्या,
ग़म अज़ीज़ों का हसीनों की जुदाई देखी,
देखें दिखलाए अभी गर्दिश-ए-दौराँ क्या क्या।

Hontho Par Dekho Phir Aaj Mera Naam Aaya Hai,
Lekar Naam Mera Dekho Mahaboob Kitna Sharmaya Hai,
Poochhe Unse Meri Aankhen Kitna Ishq Hai Mujhse,
Palke Jhukake Vo BoleKi Meri Har Saans Me Bas Tu Hi Samaya Hai.

होंठो पर देखो फिर आज मेरा नाम आया है,
लेकर नाम मेरा देखो महबूब कितना शरमाया है,
पूछे उनसे मेरी आँखें कितना इश्क है मुझसे,
पलके झुकाके वो बोले कि मेरी हर साँस में बस तू ही समाया है।

Mere Hontho Par Lafz Bhi Ab Teri Talab Leke Aate Hain,
Tere Jikr Se Mahkte Hain Tere Sajde Me Bikahar Jate Hain.

मेरे होंठो पर लफ्ज़ भी अब तेरी तलब लेकर आते हैं,
तेरे जिक्र से महकते हैं तेरे सजदे में बिखर जाते हैं।

Wo Pila Kar Jaam Hontho Se Apni Mohabbat Ka,
Ab Kahte Hain Nashe Ki Adat Achhi Nahi Hoti.

वो पिला कर जाम होंठो से अपनी मोहब्बत का, 
अब कहते हैं नशे की आदत अच्छी नहीं होती।

Wo Surkh Lab Aur Un Par Jalim Angdaiyan,
Tu Hi Bata Ye Dil Marta Na To Kya Karta.

वो सुर्ख लब और उनपर जालिम अंगडाईयां,
तू ही बता ये दिल मरता ना तो क्या करता।

Baithe Raho Saamne Dil Ko Qaraar Aayega,
Jitnaa Dekhenge Tumhe Utnaa Hi Pyar Aayega.

बैठे रहो सामने दिल को करार आयेगा,
जितना देखेंगे तुम्हे उतना ही प्यार आयेगा।

Chahat Itni Rakho Ki Jee Sabhal Jaye, Ab
Is Kadar Bhi Na Chaaho Ki Dam Nikal Jaaye.

चाहत इतनी रखो की जी सभल जाए , अब
इस कदर भी ना चाहो कि दम निकल जाये।

Door Hokar Bhi Jo Shakhs Samaya Hai Meri Rooh Mein,
Paas Vaalon Par Vo Kitna Asar Rakhta Hoga.

दूर होकर भी जो शख्स समाया है मेरी रूह में,
पास वालों पर वो कितना असर रखता होगा।

Ham To Teri Aawaaz Se Pyar Karte Hain,
Tassavur Main Tere Tanhaiyon Se Pyar Karte Hain,
Jo Mere Naam Se Tere Naam Ko Jode Zamane Wale,
Un Charchon Se Ab Ham Pyar Karate Hain.

हम तो तेरी आवाज़ से प्यार करते हैं,
तस्सवुर में तेरे तन्हाइयों से प्यार करते हैं,
जो मेरे नाम से तेरे नाम को जोड़े ज़माने वाले,
उन चर्चों से अब हम प्यार करते हैं।

Koi Teer Jaise Dil Ke Paar Hua Hai,
Jaane Kyon Itna Beqaraar Hua Hai Dil,
Pahle Kabhi Dekha Na Maine Tumhen,
Phir Bhi Kyu Ai Ajnabi Is Kadar Tumse Pyar Hua Hai.

कोई तीर जैसे दिल के पार हुआ है,
जाने क्यों इतना बेक़रार हुआ है दिल,
पहले कभी देखा न मैंने तुम्हें,
फिर भी क्यों ऐ अजनबी इस कदर तुमसे प्यार हुआ है।

Yun To Arzooyen Dil Mein Na Thi Hamen Lekin,
Na Jaane Tujhe Dekhkar Kyu Aashiq Ban Baithe,
Bandgi To Rab Ki Bhi Karte The Ham Lekin,
Na Jaane Kyu Ham Tere Liye Kaafir Ban Baithe

यूँ तो आरजूएं दिल में ना थी हमें लेकिन,
ना जाने तुझे देखकर क्यों आशिक़ बन बैठे,
बंदगी तो रब की भी करते थे हम लेकिन,
ना जाने क्यों हम तेरे लिए काफ़िर बन बैठे।

Categories: Love Shayari

DP Dikhaakar Gumraah Karegi

No Comments

Arj Kiya Hai…
Wo Tumhen DP Dikhaakar Gumraah Karegi,
Magar Tum Aadhaar Card Par Ade Rahana.

अर्ज किया है…
वो तुम्हें Dp दिखाकर गुमराह करेगी,
मगर तुम आधार कार्ड पर अड़े रहना।

Tumhari Shayari Badi Hai Fairy,
Tumhari Shayari Badi Hai Fairy,
Dil Karta Hai Jal Jaaye
Tumhari Shayari Wali Dayari.

तुम्हारी शायरी बड़ी है फाइरी,
तुम्हारी शायरी बड़ी है फाइरी,
दिल करता है जल जाये
तुम्हारी शायरी वाली डायरी।

Meri Gairat Ko Kya Lalkarega Jamana,
A For Apple B For Banan.

मेरी गैरत को क्या ललकारेगा जमाना,
A फॉर Apple B फॉर Banana।

Chhalakte Paimane Ne Mere Ashqo Se Kaha,
Chhalakte Paimane Ne Mere Ashqo Se Kaha,
Aai Hete Tears Pushpa Aai Hete Tears.

छलकते पैमाने ने मेरे अश्को से कहा,
छलकते पैमाने ने मेरे अश्को से कहा,
आई हेट टीयर्स पुष्पा आई हेट टीयर्स।

Kyu Barason Se Judai Ka Gam
Laila Aur Heer Sah Rahi Hain,
Jara Apna Rumaal To Dena
Meri Naak Bah Rahi Hai.

क्यों बरसों से जुदाई का गम
लैला और हीर सह रही हैं,
जरा अपना रुमाल तो देना
मेरी नाक बह रही है।

Kash Pyar Ka Insurance Ho Jata,
Pyar Karne Se Pehle Premium Bharwaya Jata.
Pyar Mein Wafa Mili To Theek Warna,
Bewafaon Pe Jo Kharcha Hota Uska Claim To Mil Jata.

काश प्यार का इन्शुरन्स हो जाता,
प्यार करने से पहले प्रीमियम भरवाया जाता.
प्यार में वफ़ा मिली तो ठीक वर्ना,
बेवफाओं पे जो खर्चा होता उसका क्लेम तो मिल जाता।

Tere Liye Kuchh Bhi Kar Sakta Hoon,
Lekin Abhi Mujhe Kuch Kaam Hai.
Tere Liye Sagar Me Doob Sakta Hoon,
Lekin Abhi Mujhe Zukaam Hai.

तेरे लिए कुछ भी कर सकता हूँ,
लेकिन अभी मुझे कुछ काम है.
तेरे लिए सागर में डूब सकता हूँ,
लेकिन अभी मुझे ज़ुकाम है।

Heer Ro Ro Kar
Raanjhe Se Keh Rahi Hai,
Haath Chhor Kameene
Meri Naak Beh Rahi Hai.

हीर रो रो कर
रांझे से कह रही है,
हाथ छोड़ कमीने
मेरी नाक बह रही है।

Meri Prem Kahani Ka Kya Ajeeb Ending Tha,
Meri Prem Kahani Ka Kya Ajeeb Ending Tha,
Maine Propose Kia SMS Se,
Kambakth Woh Uski Shadi Tak Pending Tha.

मेरी प्रेम कहानी का क्या अजीब एंडिंग था,
मेरी प्रेम कहानी का क्या अजीब एंडिंग था,
मैंने प्रोपोज़ किआ SMS से,
कमबख्त वह उसकी शादी तक पेंडिंग था।

Mat Kar Mere Dost Haseeno Se Mohabbat,
Wo To Aankhon Se Waar Karti Hain,
Maine Teri Wali Ki Aankhon Mein Dekha Hai,
Wo To Saali Mujh Se Bhi Pyar Karti Hai.

मत कर मेरे दोस्त हसीनो से मोहब्बत,
वो तो आँखों से वार करती हैं,
मैंने तेरी वाली की आँखों में देखा है,
वो तो साली मुझ से भी प्यार करती है।

Kasam Se Har Ek Ladaki Bhula Doonga,
Sabki Tasveeren Jala Doonga,
Ek Tum Hi Rahogi Is Dil Mein,
Phone Mein Bainles Dalva Do Dua Doonga.

कसम से हर एक लड़की भुला दूंगा
सबकी तस्वीरें जला दूंगा
एक तुम ही रहोगी इस दिल में
फोन में बैंलेस डलवा दो दुआ दूंगा।

Categories: Comedy Shayari

Jinko Kal Ki Fikr Nahin

No Comments

Jo Fakeeri Mijaaj Rakhte Hain
Wo Thokron Mein Taaj Rakhte Hain,
Jinko Kal Ki Fikr Nahin
Wo Muththi Mein Aaj Rakhte Hain.

जो फकीरी मिजाज रखते हैं
वो ठोकरों में ताज रखते हैं,
जिनको कल की फ़िक्र नहीं
वो मुठ्ठी में आज रखते हैं।

Raston Mein Mushkilen Aai,
To Himmat Aur Badhti Hai.
Koi Agar Rasta Roke,
To Jurrat Aur Badhti Hai,
Agar Bikane Pe Aa Jao,
To Ghat Jaate Hai Daam Aksar,
Na Bikane Ka Iraada Ho To,
Keemat Aur Badhti Hai.

रास्तों में मुश्किलें आऐ,
तो हिम्मत और बढ़ती है
कोई अगर रास्ता रोके,
तो जुर्रत और बढ़ती है,
अगर बिकने पे आ जाओ,
तो घट जाते है दाम अक्सर,
ना बिकने का इरादा हो तो,
कीमत और बढ़ती है।

Zindagi Ka Har Pal Lajavaab Ho Na Ho,
Zindagi Ke Har Sawal Ka Javab Hona Chahiye,
Fark Nahin Padta Ki Kitni Hi Der Lage,
Insaan Zindagi Mein Kaamyaab Hona Chaahiye.

जिंदगी का हर पल लाजवाब हो न हो,
जिंदगी के हर सवाल का जवाब होना चाहिए,
फर्क नहीं पड़ता कि कितनी ही देर लगे,
इंसान जिंदगी में कामयाब होना चाहिए।

Fikr Mat Kar Bande Kalam Kudrat Ke Haath Hai,
Likhne Wale Ne Likh Diya Kismat Tere Saath Hai,
Fikr Karta Hai Kyu, Fikr Se Hota Hai Kya,
Rakh Bhagvaan Pe Bharosa Dekh Phir Hota Hai Kya.

फ़िक्र मत कर बन्दे कलम कुदरत के हाथ है,
लिखने वाले ने लिख दिया किस्मत तेरे साथ है,
फ़िक्र करता है क्यों, से होता है क्या,
रख भगवान पे भरोसा देख फिर होता है क्या।

Dar Mujhe Bhi Laga Fasla Dekh Kar,
Par Main Badhta Gaya Rasta Dekh Kar,
Khud Ba Khud Mere Nazdeek Aati Gayi,
Meri Manzil Mera Hausla Dekh Kar.

डर मुझे भी लगा फासला देख कर,
पर मैं बढ़ता गया रास्ता देख कर,
खुद ब खुद मेरे नज़दीक आती गई,
मेरी मंज़िल मेरा हौंसला देख कर।

Main Mausam Nahi Hun Jo Pal Mein Badal Jaun,
Main Is Jameen Se Door Kahin Aur Hi Nikal Jaun,
Main Us Purane Jamane Ka Sikka Hun Mujhe Fenk Na Dena,
Ho Sakta Hai Bure Dinon Mein Main Hi Chal Jaun.

मैं मौसम नही हूँ जो पल में बदल जाऊँ,
मैं इस जमीन से दूर कहीं और ही निकल जाऊँ,
मैं उस पुराने जमाने का सिक्का हूँ मुझे फेंक न देना,
हो सकता है बुरे दिनों में मैं ही चल जाऊँ।

Chale Chaliye Ki Chalna Hi Daleel-E-Kamrani Hai,
Jo Thak Kar Baith Jate Hain Wo Manzil Pa Nahin Sakte.

चले चलिए कि चलना ही दलील-ए-कामरानी है,
जो थक कर बैठ जाते हैं वो मंज़िल पा नहीं सकते।

Gulami Mein Na Kaam Aati Hain Shamsheeren Na Tadbeeren.
Jo Ho Khud Par Yaqeen… To Kat Jaati Hain Zanjiren.

ग़ुलामी में न काम आती हैं शमशीरें न तदबीरें.
जो हो खुद पर यक़ीं… तो कट जाती हैं ज़ंजीरें।

Apna Zamana Aap Banate Hain Ahal-E-Dil,
Ham Wo Nahi Ki Jin Ko Zamana Bana Gaya.

अपना ज़माना आप बनाते हैं अहल-ए-दिल,
हम वो नहीं कि जिन को ज़माना बना गया।

Bhanvar Se Lado Tund Laharon Se Uljho,
Kahan Tak Chaloge Kinare Kinare.

भँवर से लड़ो तुंद लहरों से उलझो,
कहाँ तक चलोगे किनारे किनारे।

Chahiye Khud Pe Yaqeen-E-Kaamil,
Hausala Kis Ka Badhata Hai Koi.

चाहिए ख़ुद पे यक़ीन-ए-कामिल,
हौसला किस का बढ़ाता है कोई।

Dil Na-Umeed To Nahin Naakaam Hi To Hai,
Lambi Hai Gam Ki Sham Magar Sham Hi To Hai.

दिल ना-उमीद तो नहीं नाकाम ही तो है,
लम्बी है ग़म की शाम मगर शाम ही तो है।

Badal Jao Waqt Ke Saath Ya Waqt Badalna Seekho,
Majbooriyon Ko Mat Koso Har Haal Mein Chalna Seekho.

बदल जाओ वक्त के साथ या वक्त बदलना सीखो,
मजबूरियों को मत कोसो हर हाल में चलना सीखो।

Wo Chhoti-Chhoti Udano Pe Guroor Nahin Karta,
Jo Parinda Apne Liye Aasmaan Dhoondhta Hai.

वो छोटी-छोटी उड़ानों पे गुरूर नहीं करता
जो परिंदा अपने लिए आसमान ढूंढता है।

Chahiye Khud Pe Yaqeen-E-Kaamil,
Hausala Kis Ka Badhata Hai Koi.

चाहिए ख़ुद पे यक़ीन-ए-कामिल,
हौसला किस का बढ़ाता है कोई।

Dil Na-Umeed To Nahin Naakaam Hi To Hai,
Lambi Hai Gam Ki Sham Magar Sham Hi To Hai.

दिल ना-उमीद तो नहीं नाकाम ही तो है,
लम्बी है ग़म की शाम मगर शाम ही तो है।

Badal Jao Waqt Ke Saath Ya Waqt Badalna Seekho,
Majbooriyon Ko Mat Koso Har Haal Mein Chalna Seekho.

बदल जाओ वक्त के साथ या वक्त बदलना सीखो,
मजबूरियों को मत कोसो हर हाल में चलना सीखो।

Wo Chhoti-Chhoti Udano Pe Guroor Nahin Karta,
Jo Parinda Apne Liye Aasmaan Dhoondhta Hai.

वो छोटी-छोटी उड़ानों पे गुरूर नहीं करता
जो परिंदा अपने लिए आसमान ढूंढता है।

Categories: Inspirational Shayari

To Maang Lena Khuda Se Use Zindagi

No Comments

Jab Koyi Zindagi Mein Bahut Khaas Ban Jaye,
Uske Baare Mein Sochna Hi Uska Ehsaas Ban Jaye,
To Maang Lena Khuda Se Use Zindagi Bhar Ke Liye,
Ise Se Pahle Ki Uski Maa Kisi Aur Ki Saas Ban Jaye.

जब कोई ज़िन्दगी में बहुत ख़ास बन जाए,
उसके बारे में सोचना ही उसका एहसास बन जाए,
तो मांग लेना खुदा से उसे जिंदगी भर के लिए,
इस से पहले की उसकी माँ किसी और की सास बन जाए।

Jab Tirchhee Najron Se Unhone Hamko Dekha,
To Ham Madahosh Ho Gaye
Jab Pata Laga Unaki Nazaren Hi Tirachhi Hain
To Ham Behosh Ho Gaye.

जब तिरछी नजरों से उन्होंने हमको देखा,
तो हम मदहोश हो गए
जब पता लगा उनकी नज़रें ही तिरछी हैं
तो हम बेहोश हो गए।

Najar Na Lag Jaaye Aankhon Mein Kajal Laga Lo,
Ham Kahte Hain Aankhon Mein Kaajal Hi Nahin,
Ho Sake To…
Gale Mein Neeboo Mirchi Chappal Bhi Latka Lo,

नजर न लग जाये आँखों में काजल लगा लो,
हम कहते हैं आँखों में काजल ही नहीं,
हो सके तो…
गले में नीबू मिर्ची चप्पल भी लटका लो,

Meethi Meethi Yaadon Ko Palkon Pe Saja Lena,
Saath Guzre Lamhon Ko Dil Mein Basa Lena,
Main To Barason Ka Pyasa Hoon, Faraaz,
Bijli Aa Jaaye To Yaad Se Motar Chala Dena.

मीठी मीठी यादों को पलकों पे सजा लेना,
साथ गुज़रे लम्हों को दिल में बसा लेना,
मैं तो बरसों का प्यासा हूँ, ‘फराज़’,
बिजली आ जाये तो याद से मोटर चला देना।

Meri Khushi Ke Lamhe
Is Kadar Mukhtsar Hain Faraz,
Abi Mujra Shuru Hi Hua
Tha Ke Chaapa Pad गया.

मेरी ख़ुशी के लम्हे इस कदर
मुख़्तसर हैं फ़राज़,
अभी मुजरा शुरू ही हुआ था
के छापा पड़ गया।

Masoom Muhabbat ka Faraz
Bas Itna Sa Fasana hai..
Ammi Ghar se Nikalne Nahi Deti
Aur Mujhy DATE Par Jana Hai.

मासूम सी मुहब्बत का फ़राज़
बस इतना सा फ़साना है..
अम्मी घर से निकलने नहीं देती
और मुझी डेट पर जाना है।

Mohabbat Karte Hain Log Bade Shor Ke Saath,
Hamne Bhi Ki Bade Jor Ke Saath,
Lekin Ab Karenge Thoda Gaur Ke Saath,
Kyuki Kal Use Dekha Hai Kisi Aur Ke Saath.

मोहब्बत करते हैं लोग बड़े शोर के साथ,
हमने भी बड़े जोर के साथ,
लेकिन अब करेंगे थोड़ा गौर के साथ,
क्योंकि कल उसे देखा है किसी और के साथ।

Dosto Ham Unhen Mud Mudkar Dekhate Rahe,
Aur Vo Hamen Mud Mud Kar Dekhte Rahe,
Vo Hamen, Ham Unhen, Vo Hamen, Ham Unhen,
Kyuki Pareeksha Me Na Unhen Kuch Aata Tha Na Hame.

दोस्तो हम उन्हें मुड़ मुड़कर देखते रहे,
और वो हमें मुड़-मुड़ कर देखते रहे,
वो हमें हम उन्हें, वो हमें हम उन्हें,
क्योंकि परीक्षा में न उन्हें कुछ आता था न हमे।

Jab Darwaja Kholne Gaye To Chehre Par Hasi Thi,
Darwaja Khola To Aankhon Me Aansu Dil Me Bebasi Thi,
Jyaada Mat Soch Pagle,
Meri Ungali Darawaje Mei Phansei Thi,

जब दरवाजा खोलने गये तो चेहरे पर हसी थी,
दरवाजा खोला तो आँखों में आँसू दिल में बेबसी थी,
ज्यादा मत सोच पगले,
मेरी ऊँगली दरवाजे में फंसी थी,

Categories: Comedy Shayari

Pyar To Humein Bhi Karna Tha

No Comments

Tajmahal Kisi Ke Liye Ek Ajooba Hai,
To Kisi Ke Liye Pyar Ka Ehsaas Hai,
Hamare Tumhare Liye To Bakwaas Hai,
Kyun Ki Ki Roz Badalti Humari Mumtaaj Hai.

ताजमहल किसी के लिए एक अजूबा है,
तो किसी के लिए प्यार का एहसास है,
हमारे तुम्हारे लिए तो बकवास है,
क्यूँ की की रोज़ बदलती हमारी मुम्ताज़ है।

Pyar To Humein Bhi Karna Tha,
Par Kuch Khaas Nahi Hua,
Tajmahal To Humein Bhi Banana Tha,
Par Afsoss Ke Loan Pass Nahi Hua.

प्यार तो हमें भी करना था,
पर कुछ ख़ास नहीं हुआ,
ताजमहल तो हमें भी बनना था,
पर अफ़सोस के लोन पास नहीं हुआ।

Fijaon Ke Badalne Ka Intazaar Mat Kar,
Aandhiyon Ke Rukne Ka Intazaar Mat Kar,
Pakad Kisi Ko Aur Faraar Ho Ja,
Papa Ki Pasand Ka Intazaar Mat Kar.

फिजाओं के बदलने का इंतज़ार मत कर,
आँधियों के रुकने का इंतज़ार मत कर,
पकड़ किसी को और फरार हो जा,
पापा की पसंद का इंतज़ार मत कर।

Ajab Si Halat Hai Tere Jane Ke Baad,
Mujhe Bhookh Lagti Nahin Khana Khane Ke Bad,
Mere Pass Do Hi Samose The Jo Maine Kha Liye,
Ek Tere Aane Se Pehle, Ek Tere Jane Ke Baad.

अजब सी हालत है तेरे जाने के बाद,
मुझे भूख लगती नहीं खाना खाने के बाद,
मेरे पास दो ही समोसे थे जो मैंने खा लिए,
एक तेरे आने से पहले, एक तेरे जाने के बाद।

Yuse Karte Hain Make-Up Ka Dabba Roz Kyun,
Ban Sanwar Kar Nikalte Hain Roz Kyun,
Mummy, Tum To Kehthi Thi Eid To Kab Ki Gayi,
Phir Padosan Se Gale Milte Hain Papa Roz Kyun.

यूज़ करते हैं मेक-अप का डब्बा रोज़ क्यों,
बन संवर कर निकलते हैं रोज़ क्यों,
मम्मी, तुम तो कहती थी ईद तो कब की गयी,
फिर पड़ोसन से गले मिलते हैं पापा रोज़ क्यों।

Muqaddar Me Raat Ko Neend Nahi To Kya,
Muqaddar Me Raat Ko Neend Nahi To Kya,
Hum Bhi Muqaddar Ko Choona Lagate Hain,
Aur Din Me Hi So Jaate Hain.

मुक़द्दर में रात को नींद नहीं तो क्या,
मुक़द्दर में रात को नींद नहीं तो क्या,
हम भी मुक़द्दर को चूना लगाते हैं,
और दिन में ही सो जाते हैं।

Aye Gulaab Apni Khushbu Ko
Mere Doston Par Nyochhawar Kar De,
Yeh Sardi Ke Mausam Mein
Aksar Nahaya Nahi Karte.

ए गुलाब अपनी खुशबू को
मेरे दोस्तों पर न्योछावर कर दे,
यह सर्दी के मौसम में
अक्सर नहाया नहीं करते।

Dekha Hai Tumhare Aage,
Sharma Ke Phoolon Ko Murjhaate,
Aye Jahan Ko Ghayal Karne Waale,
Tum Deodorant Kyun Nahi Lagaate.

देखा है तुम्हारे आगे,
शर्मा के फूलों को मुरझाते,
ए जहाँ को घायल करने वाले
तुम डिओडोरेंट क्यों नहीं लगाते।

Aaj Kuch Sharmaye Se Lagte Ho,
Sardi Ke Karan Kapkapye Se Lagte Ho,
Chehra Apka Khilkhilaya Sa Lagta Hai,
Hafte ke Baad Nahaye Se Lagte Ho.

आज कुछ शर्माए से लगते हो,
सर्दी के कारण कपकपए से लगते हो,
चेहरा आपका खिलखिलाये सा लगता है,
हफ्ते के बाद नहाए से लगते हो।

Khud Bachcha Roye To Dil Mein Dard Hota Hai,
kisi Aur Ka Roye To Sar Mein Dard Hota Hai,
Khud Ki Bibi Roye To Bhi Sar Mein Dard Hota Hai,
Kisi Aur Ki Roye To Dil Mein Dard Hota Hai.

खुद का बच्चा रोये तो दिल में दर्द होता है,
किसी और का रोये तो सर में दर्द होता है,
खुद की बीवी रोये तो भी सर में दर्द होता है,
किसी और की रोये तो दिल में दर्द होता है।

Very Funny Shayari Hindi

Jab Ham Unke Ghar Gaye…
Kahane Dil Se Dil Laga Lo,
Unki Maa Ne Khola Daravaaja,
Ham Ghavara Ke Bole..
Aanty Bachcho Ko Poliyo Drop Pilava Lo.

जब हम उनके घर गए…
कहने दिल से दिल लगा लो,
उनकी माँ ने खोला दरवाजा,
हम घवरा के बोले..
आंटी बच्चो को पोलियो ड्राप पिलवा लो।

Ishq Ke Charche Bahut Hain Doston,
Husn Ke Parche Bahut Hai Yaaron,
Ishq Karane Se Pahale Jaan Lena,
Isamen Kharche Bahut Hain Dosto.

इश्क के चर्चे बहुत हैं दोस्तों,
हुस्न के पर्चे बहुत है यारों,
इश्क करने से पहले जान लेना,
इसमें खर्चे बहुत है दोस्तो।

‘Khate Bahut Ho’ Funny Shayari

Kuchh Boloon To Itaraate Bahut Ho,
Jaaneman Tum Muskuraate Bahut Ho,
Man Karata Hai Tumhe Daavat Par Bulaoon,
Lekin Jaaneman Tum Khaate Bahut Ho.

कुछ बोलूं तो इतराते बहुत हो,
जानेमन तुम मुस्कुराते बहुत हो,
मन करता है तुम्हे दावत पर बुलाऊँ,
लेकिन जानेमन तुम खाते बहुत हो।

Categories: Comedy Shayari